Share this post

किसी के चेहरे के हाव-भाव देखकर जानें कैसा है उनका मूड 

इंसान जब बात करता है तो सिर्फ उसके शब्द ही मायने नहीं रखते हैं। उसके हाव-भाव भी बिना कुछ कहे बहुत कुछ कह देते हैं। अगर किसी व्यक्ति को आप पर गुस्सा आ रहा है तो ज़रुरी नहीं है कि वो ज़ोर से चिल्लाकर ही बोले। वो आँखे दिखाकर भी अपना गुस्सा ज़ाहिर कर सकता है।

इसका अर्थ हुआ कि चेहरे के भाव भी आपके मन की बात कह देते हैं। जब आप किसी से बात करते हैं तो उसके शब्दों को समझने के साथ ही यह भी ज़रुरी है कि आप यह भी समझें कि वह किस मूड में बात कर रहा है। किसी भी व्यक्ति का मूड उसके चेहरे के भावों को पढ़कर समझा जा सकता है।
आइये समझने की कोशिश करते हैं कि आखिर किसी व्यक्ति के हाव-भाव उसके मूड के बारे में क्या कहते हैं।

किसी के चेहरे के हाव-भाव देखकर जानें कैसा है उनका मूड 

किसी के चेहरे के हाव-भाव देखकर जानें कैसा है उनका मूड 

754 396
logo
  in Lifestyle

जब कोई हो आश्चर्यचकित 

जब कोई हो आश्चर्यचकित 

जब कोई व्यक्ति सरप्राइज या शॉक में होता है तो उसकी भौहें चढ़ी हुई होती है। आँखे और मुँह खुल जाते हैं। माथे पर लकीरे बन जाती हैं और चेहरे की त्वचा खिंच जाती है।  

जब सामने वाला हो डर में 

जब सामने वाला हो डर में 

जब कोई व्यक्ति डरा हुआ होता है तो उसकी भौहें सीधी लाइन में चढ़ी हुई होती हैं। माथे पर शिकन होती है, और ऊपर की पलकें चौड़ी और नीचे की सिकुड़ी हुई होती हैं। साथ ही मुंह भी खुला होता है लेकिन ऊपर और नीचे के दांत एक दूसरे से ज़्यादा दूर नहीं होते हैं।   

जब आ रही हो किसी पर घृणा 

जब आ रही हो किसी पर घृणा 

जब किसी को किसी वस्तु या व्यक्ति पर घृणा आ रही हो या कुछ ख़राब या गन्दा लग रहा हो तो उसकी एक आईब्रो ऊपर चढ़ जाती है। माथे और नाक पर रिंकल्स आ जाते हैं। दोनों होंठ थोड़े उठ जाते हैं और गाल भी थोड़े ऊपर उठ जाते हैं।

गुस्से में लाल हो रहा हो कोई 

गुस्से में लाल हो रहा हो कोई 

जब कोई व्यक्ति गुस्से के मूड में होता है तो उसकी भौहें झुक जाती हैं और उनके बीच बल पड़ जाते हैं। नीचे वाली पलक सिकुड़ जाती है और आँखे घूरने वाली मुद्रा में होती हैं। होंठ कॉर्नर्स से दबे हुए होते हैं या अगर कोई चिल्ला रहा हो तो मुँह चौकोर आकार में खुला होगा। 

 खुश तो बहुत होगे आज तुम 

 खुश तो बहुत होगे आज तुम 

जब कोई खुश होता है तो उसके होंठों के कोने चौड़े और थोड़े ऊपर हो जाते हैं। गाल भी ऊपर उठ जाते हैं। साथ ही मुँह खुला हो भी सकता है और नहीं भी। आउटर नोज़ से आउटर लिप तक रिंकल्स बन जाता है और निचली पलक थोड़ी सिकुड़ भी सकती है।

अगर छाई हो उदासी 

अगर छाई हो उदासी 

जब सामने वाला व्यक्ति उदास होता है तो उसकी आईब्रोज़ के अंदर वाले किनारे पास आ जाते हैं और थोड़ी ऊपर उठ जाते हैं। दोनों होंठों के बाहरी किनारे झुक जाते हैं, और जबड़ा भी झुक जाता है।

कन्फ्यूज़न ही कन्फ्यूज़न है 

कन्फ्यूज़न ही कन्फ्यूज़न है 

जब कोई भ्रमित या कंफ्यूज़ होता है तो दोनों में से एक आईब्रो उठी हुई होती है। कभी-कभी दोनों होठों के एक तरफ के किनारे उठे हुए होते हैं। माथे और नाक पर भी शल पड़ जाते हैं।  

शर्म से हो पानी-पानी 

शर्म से हो पानी-पानी 

जब कोई व्यक्ति शर्मिंदा होता है तो उसकी नज़रे झुकी हुई होती हैं। साथ ही कुछ लोग गर्दन भी झुका लेते हैं।  इसके अलावा दोनों होठ अंदर दबे हुए होते हैं। 

थकान हो कुछ ज़्यादा 

थकान हो कुछ ज़्यादा 

जब कोई व्यक्ति थका हुआ होता है तो उसकी आँखे पूरी तरह नहीं खुल पाती हैं। साथ ही भौहें भी चढ़ी हुई होती हैं। उसके अलावा अगर नींद आ रही हो तो व्यक्ति आँखे खुली रखने के लिए बार-बार भौहों को ऊपर करता है।

क्या आपको लगता है कि व्यक्ति का चहरा, सब कुछ दर्शा देता है?

others like

Loved this? Spread it out then

Report

close

Select you are Reporting

expand_more
  • GreenPear
  • GreenPear
  • GreenStrawberry
  • GreenStrawberry
  • RedApple
  • RedApple
  • +2351 Active user
Post as @guest useror