Share this post

इन ख़ास बातों पर ध्यान देकर अपनी सर्दियों को बनाएं और भी ख़ूबसूरत 

नवम्बर का महीना आधा होने आया है तो ज़ाहिर सी बात है ठंड का आगमन तो होना ही है। वैसे अभी दिन में इतनी ठंड नहीं लगती है जितनी सुबह-सुबह और रात में लगती है। लेकिन त्वचा का रुखा हो जाना और एड़ियों का फट जाने जैसी समस्याएं तो शुरू हो ही गई है। वैसे भी आने वाले दिनों में ठंड का प्रकोप बड़ने ही वाला है। तो ऐसे में ज़ाहिर सी बात है कि आपकों अपने शरीर का ख़ास ध्यान रखना ही होगा।
तो चलिए, मैं ही आपकी मदद कर देती हूँ और आपको ठंड में होने वाली समस्याओं से बचने के लिए महत्वपूर्ण टिप्स दे देती हूँ।

इन ख़ास बातों पर ध्यान देकर अपनी सर्दियों को बनाएं और भी ख़ूबसूरत 

इन ख़ास बातों पर ध्यान देकर अपनी सर्दियों को बनाएं और भी ख़ूबसूरत 

754 396
  in Health & Fitness

गुनगुने पानी का करें इस्तेमाल

गुनगुने पानी का करें इस्तेमाल

सबसे पहले त्वचा की बात करते हैं। हाँ तो, ठंड में गर्म पानी से नहीं गुनगुने पानी से नहाए। अगर ऐसा नहीं कर पा रहें हैं तो कम से कम अपने हाथों और चेहरे को गुनगुना पानी से ही धोए। इसके बाद अपनी त्वचा के हिसाब से  मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करें। ध्यान रहे ठंड में  मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल बहुत ज़रुरी है। इसके साथ ही रात में भी हाथों-पैरों और चेहरे पर मॉइश्चराइज़र लगाकर ही सोए।

त्वचा की करें सुरक्षा

त्वचा की करें सुरक्षा

ठंडी हवा त्वचा को और नुक़सान पहुँचाती है। अपने शरीर को ठंडी हवा से बचाने के लिए स्कार्फ़ और ग्लव्स पहनकर ही बाहर निकलें। इसके अलावा गर्मी की तरह सर्दी का सूर्य भी त्वचा को नुक़सान पहुँचाता है इसलिए सनस्क्रीन लोशन लगाकर ही बाहर निकलें ।

खूब पानी पिएं 

खूब पानी पिएं 

त्वचा में पानी का स्तर बनाए रखने के लिए पानी पीना बहुत ज़रुरी है। इसलिए थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहें।इसके अलावा पानी की अधिकतम मात्रा वाले खाद्य पदार्थ जैसे कि तरबूज़, संतरा, सेवफल, टमाटर, ककड़ी का अधिक सेवन करें। 

कंडीशनिंग ज़रूर करें 

कंडीशनिंग ज़रूर करें 

ठंड में बालों को ज़्यादा शैम्पू करने से स्क्लप रूखी हो जाती है। इसलिए बेहतर है कि हर दो दिन में सिर्फ बालों की लटों को ही धोए। साथ ही बालों के पौषण के लिए शैम्पू के बाद कंडीशनिंग ज़रूर करें। ठंड में बालों को ज़्यादा ब्लो ड्राई न करें, ना ही ज़्यादा कॉम्ब करें। इसके अलावा सर धोने से पहले अच्छी तरह खोपरे या ज़ैतून का तेल लगाए, इससे स्क्लप की ड्राईनेस कम होगी।


पहने कॉटन के मोज़े

पहने कॉटन के मोज़े

ठंड में एड़ियों का फटना बहुत आम बात है साथ ही शर्मनाक भी है। इससे बचने के लिए एड़ियों को  मॉइश्चराइज़ करें। नहाते समय चिकने पत्थर से अपनी एड़ियों को घिसे। साथ ही रात में कॉटन के मोज़े पहनकर सोए। इससे पैरों में गर्मी बनी रहती है और वो फटते नहीं हैं। साथ ही मॉइश्चराइज़र को गर्म पैरों पर लगाने पर ज्यादा प्रभवशाली होता है।


शहद लगाए होठों पर

शहद लगाए होठों पर

होठों की भी ठंड में बहुत ही बुरी हालात होती है। होठ की परते निकलती रहती हैं और कभी-कभी तो खून भी आ जाता हैं। ऐसी स्थिति से बचने के लिए बेहतर है कि एक अच्छा सा लिप बाम हमेशा साथ लेकर घूमें। साथ ही अगर होंठ की परते निकल रही हैं तो हाथ से निकालने से बेहतर है कि होठों को किसी मुलायम ब्रश से घिस लें। इसके अलावा होठों पर शहद लगाने से होठों पर लंबे समय तक नमी बनी रहती है। साथ ही 'लैनोलिन' (प्राकृतिक वैक्स) से बना मॉइश्चराइज़र होठों पर लगाए।


नाखूनों पर लगाए जैतून का तेल

नाखूनों पर लगाए जैतून का तेल

ठंड में ड्राय हवा चलती है। जो नाखूनों को कमजोर कर देती है, जिससे वे जल्दी टूटने लगते हैं। ठंड में नाखूनों पर जैतून का तेल या लैनोलिन का मॉइश्चराइज़र लगाए और ग्लव्स पहनकर सो जाए, इससे नाखूनों में नमी बनी रहेगी।


नेल पॉलिश आए काम

नेल पॉलिश आए काम

इसके अलावा ठंड आपको नेल पॉलिश लगाने का भी बहाना दे रही हैं। यह इसलिए कि ठंड में नेल पॉलिश की मोटी परत लगाने से नाखूनों का बचाव होता है।

इन्हें न भूलें 

इन्हें न भूलें 

शरीर के महत्वपूर्ण जॉइंट्स जैसे की कोहनी और गुठने को हम अक्सर नज़रअंदाज़ कर देते हैं।लेकिन ठंड में इन्हें भी बहुत नुक़सान होता है। ठंड में इन्हें भी याद से मॉइश्चराइज़ करके रखें । साथ ही इन पर घर में बना स्क्रब भी लगाए। घर में आप शक्कर, ज़ैतून का तेल और निम्बू का रस मिलाकर स्क्रब बना सकते हैं।


आँखों को रखे नम

आँखों को रखे नम

ठंड के मौसम में आंखों की ड्रायनेस भी एक बड़ी समस्या है। ठंडी और रूखी हवा की वजह से आँखे भी ड्राई हो जाती हैं जिससे आंखों में परेशानी होती है। इसलिए ऑय ड्राप या ह्यूमिडिफायर का प्रोयोग करें। साथ ही साथ यु.वी रेज़ से बचाने वाले ग्लासेज़ या गॉगल्स लगाकर ही बाहर निकलें। 


हवा से बचाए कानों को

हवा से बचाए कानों को

कानों में हवा लगने से कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होती हैं। इसलिए बेहतर है कि ठंड में कानों को मफलर या हैट से ढ़ककर रखें। साथ ही ठंड में कानों में कई तरह के इन्फेक्शन भी हो जाते हैं। जिनसे बचने के लिए भी कानों का गर्म रहना ज़रुरी है।


क्या आपको भी सर्दियों का मौसम में परेशानियों का सामना करना पड़ता है?

others like

Loved this? Spread it out then

Report

close

Select you are Reporting

expand_more
  • GreenPear
  • GreenPear
  • GreenStrawberry
  • GreenStrawberry
  • RedApple
  • RedApple
  • +2351 Active user
Post as @guest useror
stop

NSFW Content Ahead

To access this content, confirm your age by signing up.