Share this post

अगर आप भी व्हाट्सएप चलाते हैं तो रहें इन अफ़वाहों से सावधान 

विज्ञान एक अभिशाप है या वरदान? सदियों से इस विषय पर चर्चा जारी है, मगर आज तक हम किसी निर्णय पर नहीं पहुंच पाए हैं। जिस विषय पर दुनिया भर के बुद्धिजीवी किसी मत पर नहीं पहुँच पाते हैं, उस विषय पर आपका अपना विवेक ही काम आता है।
हमारी यह भेड़ चाल हमारे विवेक को मार देती है। बुद्धिजीवी व्यक्ति भी मूर्खों की तरह व्यव्हार करने लग जाते हैं। इसी का फायदा कुछ चतुर भेड़िये अपने स्वार्थ के लिए करते हैं।
 आइये देखते हैं क्या-क्या अफवाह फेली व्हाट्स एप से और उसका क्या असर पड़ा।    

अगर आप भी व्हाट्सएप चलाते हैं तो रहें इन अफ़वाहों से सावधान 

अगर आप भी व्हाट्सएप चलाते हैं तो रहें इन अफ़वाहों से सावधान 

754 396
logo
  in Science & Technology

यह लाइन नोटबंदी की नहीं है 

यह लाइन नोटबंदी की नहीं है 

अगर आप यह सोच रहे हैं कि यह लाइन नोट बदलने की है तो आप गलत हैं। आप को सुनकर यकीन नहीं होगा मगर यह लाइन नमक लेने वालों की है। दरअसल किसी ने व्हाट्सएप पर यह अफवाह फैला दी थी की नमक के भाव बड़ने लगे हैं। फिर क्या था! लोग बैंको की लाइन छोड़कर, नमक लेने के लिए लाइन में आगे बड़ने लगे। 

तुरंत अपने व्हाट्सएप से अपना फ़ोटो हटाएं 

तुरंत अपने व्हाट्सएप से अपना फ़ोटो हटाएं 

इन दिनों एक मैसेज काफी चल रहा है कि "तुरंत वॉट्सऐप से अपनी प्रोफाइल पिक्चर हटा दें, वरना आई.एस.आई.एस. हैकर्स की मदद से इन पिक्चर्स को चुराकर आतंकी गतिविधियों के लिए मिसयूज़ कर सकते हैं। " मैसेज के मुताबिक वॉट्सऐप के सी.ई.ओ. ने सभी से ख़ासतौर पर लड़कियों से अपील की है कि 20-25 दिनों के अंदर अपनी पिक्चर हटा दें और इस मैसेज को सभी को फॉरवर्ड कर दें।"

यह ख़बर भी झूठ ही साबित हुई 

यह ख़बर भी झूठ ही साबित हुई 

मैसेज के आखिर में एक सज्जन का नाम लिखा हुआ है और एक फोन नंबर भी दिया हुआ है। दावा किया गया है कि यह मैसेज दिल्ली के कमिश्नर की तरफ से जारी है। ट्रूकॉलर पर चेक करने पर पता चला है कि यह नंबर, अरशद अली नाम के किसी शख़्स का है और बहुत से लोगों ने इसे स्पैम मार्क किया हुआ है।

एटीएम के बाहर भगदड़ 

एटीएम के बाहर भगदड़ 

यहाँ नोटबंदी की ख़बर लोगों ने सुनी नहीं कि उधर सोशल मीडिया पर अफवाहों का बाज़ार गर्म हो गया। किसी ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैला दी कि दिल्ली में एक एटीएम के बाहर भगदड़ मच गई है। उसमें कई लोग घायल हो गए हैं। उधर पुलिस ने ऐसी कोई भी घटना होने से अस्वीकार किया है साथ ही अफवाह फैलाने वालों पर ठोस कार्यवाही करने के संकेत भी दिए हैं।   

आप जिनसे अपना घर सजाते हो वह पोधे ज़हरीले हैं 

आप जिनसे अपना घर सजाते हो वह पोधे ज़हरीले हैं 

हर कोई चाहता है कि उसके ड्राइंग रूम और घर में सजावट के लिए खूबसूरत पौधे हों। डंब केन, ग्लोरी लिली, हार्ट लीफ, मनी प्लांट, नेरियम ओलिएंडर, पॉइन्सेटिया जैसे इनडोर डेकोरेटिव प्लांट के बारे में सोशल मीडिया पर फैली अफवाहों में इन्हें ज़हरीला बताया जा रहा है। इसके चलते लोगों ने इन पौधों को घरों से दूर करना शुरू कर दिया है। उधर वनस्पतिशास्त्री इसे ग़लत प्रचार बता रहे हैं। नासा व डब्ल्यू.एच.ओ. भी इन्हीं पौधों को घरों में लगाने की सलाह देते हैं। 

बैंक लॉकर होने वाले हैं सीज़  

बैंक लॉकर होने वाले हैं सीज़  

सोशल मीडिया पर लॉकर को सीज़ किए जाने की अफवाह से बैंकों में शुक्रवार और शनिवार को अफ़रा-तफ़री मची रही। हालात यह हैं कि लोग रविवार को भी सुबह 8 बजे से ही बैंक पहुंच गए। कुछ बैंकों में लॉकर चेक करने से मना किया तो हंगामा हो गया। हालात यह हुए कि प्रशासन को स्थिति संभालनी पड़ी। 

उड़ी कादर खान की मौत की खबर 

उड़ी कादर खान की मौत की खबर 

सोशल मीडिया पर बॉलीवुड के मशहूर कलाकार, कादर खान कि मौत की अफवाह वायरल हो गई। अभिनेता के परिवार से जुड़े सूत्रों ने उनके स्वस्थ्य और सकुशल होने की पुष्टि की है। उनके करीबियों ने लोगों से इस तरह की अफवाहें ना फैलाने की अपील भी की।

शादी का कार्ड ले कर पैसे लेने बैंक पहुंचे लोग 

शादी का कार्ड ले कर पैसे लेने बैंक पहुंचे लोग 

दरअसल सोशल मीडिया पर यह अफवाह फैल गई की "अगर आपके घर शादी है तो आप 5 लाख तक की राशी बैंक से निकाल सकते हैं।"  इसके लिए आपको आपके क्षेत्र से डी.सी.पी. की मुहर लगाकर, बैंक में शादी के कार्ड लेकर जाना होगा। बस क्या था! लोग शादी का कार्ड ले कर बैंक पहुंच गए, फिर बैंक वालों ने उन्हें ऐसी किसी भी योजना के होने से इंकार किया।  

क्या आप भी सोशल मिडिया पर आए दिन आ रही झूठी अफवाहों से परेशान हैं?

others like

Loved this? Spread it out then

Report

close

Select you are Reporting

expand_more
  • GreenPear
  • GreenPear
  • GreenStrawberry
  • GreenStrawberry
  • RedApple
  • RedApple
  • +2351 Active user
Post as @guest useror