Share this post

एमएस धोनी की बायोपिक में दिखाई गई ऐसी 9 बातें, जिनका उनकी रियल लाइफ से कोई लेना-देना नहीं

सिनेमा हमारी भारतीय संस्कृति का एक बड़ा हिस्सा है।

~ महेन्द्र सिंह धोनी

भारत को टी-20 वर्ल्डकप और 28 साल बाद विश्व कप जिताने वाले भारत के सफलतम कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की बायोपिक उनसे भी ज़्यादा विवादों में घिरी नज़र आ रही है। पहले उनकी एक्स गर्लफ्रेंड लक्ष्मी राय का विवादित बयान और अब उनकी बायोपिक से जुड़ी यह गलतियां जिनका उनकी रियल लाइफ से कोई लेना देना नहीं है।

पहली बार धोनी की पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ के बहुत से अनछुए पहलू दुनिया के सामने आये हैं। जो दिखता है ज़रूरी नहीं वास्तिवक ज़िंदगी में भी वैसा ही हो। फिल्म में कई ऐसे दृश्य भी हैं जो सफ़ेद झूठ हैं, जिनका धोनी की ज़िन्दगी से कोई वास्ता नहीं।

जानिए 'कैप्टन कूल' की बायोपिक की 9 ऐसी गलतियां जो वाकई आपके कान से ख़ून निकाल देंगी। 

एमएस धोनी की बायोपिक में दिखाई गई ऐसी 9 बातें, जिनका उनकी रियल लाइफ से कोई लेना-देना नहीं

एमएस धोनी की बायोपिक में दिखाई गई ऐसी 9 बातें, जिनका उनकी रियल लाइफ से कोई लेना-देना नहीं

754 396
logo
  in Celebrities

1. शादी के बाद धोनी और साक्षी हनीमून पर जाते हैं

1. शादी के बाद धोनी और साक्षी हनीमून पर जाते हैं

सच्चाई: 4 जुलाई, 2010 को शादी के कुछ दिनों बाद ही धोनी श्रीलंका टूर पर चले गए थे , जहां उन्होंने 3 टेस्ट और ट्रायंगुलर सीरीज (भारत-श्रीलंका-न्यूजीलैंड) खेली थी। आश्चर्य की बात तो यह है कि एक इंसान एक ही वक़्त पर दो जगहों पर कैसे हो सकता है? सच्चाई यह है कि धोनी के पास वाक़ई हनीमून पर जाने का वक़्त नहीं था।

साक्षी पर मीडिया की मार

साक्षी पर मीडिया की मार

झूठ: धोनी से सिर्फ एक मुलाक़ात के बाद साक्षी को मीडिया चारों तरफ़ से घेर लेता है और उनके और धोनी के बीच चल रहे प्रेम प्रसंग के बारे में सवाल पूछता है।

सच्चाई: साक्षी और धोनी की ज़्यादातर मुलाकातें मीडिया की नज़रो से दूर ही रही है। धोनी से शादी के पहले साक्षी को कोई नहीं जानता था। 2008 में धोनी उनसे मिलने औरंगाबाद जाते हैं और वो मुम्बई आती हैं, लेकिन इन मुलाकातों की मीडिया को भनक तक नहीं लगती।

3. धोनी का कोई भाई नहीं है

3. धोनी का कोई भाई नहीं है

झूठ: धोनी का कोई भाई नहीं है। उनकी सिर्फ एक बड़ी बहन जयंती है।

सच्चाई: धोनी की एक बड़ी बहन के साथ उनका एक बड़ा भाई भी है जिसका नाम नरेंद्र सिंह धोनी है।

4. प्रियंका से फ्लाइट में हुई थी मुलाक़ात

4. प्रियंका से फ्लाइट में हुई थी मुलाक़ात

झूठ: 2005 में पाकिस्तान में वनडे सीरीज खेलने जाते वक़्त धोनी की मुलाक़ात प्रियंका झा से फ्लाइट में होती है।

सच्चाई: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, प्रियंका और धोनी का रिलेशन 2005 में नहीं, बल्कि साल 2002 से भी काफी पहले से था। जब धोनी घरेलू क्रिकेट खेलते थे तब से वो प्रियंका को चाहते थे। इस बात से यह तो स्पष्ट होता है कि फ्लाइट में वो प्रियंका से तो नहीं मिले थे? फिर वो किससे मिले थे यह प्रश्न अब ज़रूर उठता है।

5. कैसे कोई 'कैप्टन कूल' को नहीं जानता हो?

5. कैसे कोई 'कैप्टन कूल' को नहीं जानता हो?

झूठ: पहली मुलाकात के वक्त साक्षी 'माही' का नाम तक नहीं जानती थी।

सच्चाई: साक्षी 'धोनी' की बहुत बड़ी फैन थीं। वो कोलकाता के ताज होटल में पहली बार धोनी से मिली थी। उन्होंने 'माही' के साथ सेल्फी खिंचवाने की रिक्वेस्ट भी की थी।

6. लगता है डायरेक्टर साहब सुशांत को ही धोनी समझ बैठे

6. लगता है डायरेक्टर साहब सुशांत को ही धोनी समझ बैठे

झूठ: धोनी गार्नियर और लावा जैसे ब्रांड्स का एंडोर्स 2007 टी20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद से कर रहे हैं।

सच्चाई: धोनी ने गार्नियर का ऐड आजतक नहीं किया। दूसरी तरफ़ लावा कंपनी का जन्म ही 2009 में हुआ था और धोनी अप्रैल, 2016 से लावा से जुड़े हैं। 


7. समय बदल जाता है लेकिन घर का इंटीरियर नहीं। गज़ब करते हैं डायरेक्टर महोदय

7. समय बदल जाता है लेकिन घर का इंटीरियर नहीं। गज़ब करते हैं डायरेक्टर महोदय

झूठ: फिल्म में शुरुआत से अंत तक धोनी के घर का इंटीरियर एक जैसा दिखाया गया।

सच्चाई: जैसे ही धोनी ने स्टार क्रिकेटर होने का दर्ज़ा पाया उसके कुछ साल बाद ही वो रांची में अपने नए घर में शिफ्ट हो गए थे, जिसका इंटीरियर बिल्कुल अलग और खूबसूरत है।

8. पिया से मिलने खुद ही पहुँच गए थे माही

8. पिया से मिलने खुद ही पहुँच गए थे माही

झूठ: धोनी साक्षी से खुद ही कोलकाता में जाकर मिलते हैं।

सच्चाई: धोनी के मैनेजर रहे युधाजीत दत्त ने धोनी-साक्षी की पहली बार मुलाक़ात करवाई थी, जो साक्षी के भी अच्छे दोस्त थे। धोनी ने साक्षी का फ़ोन नंबर युधाजीत से ही लिया था। 

9. सर, आपका आईडी कार्ड कहाँ है?

9. सर, आपका आईडी कार्ड कहाँ है?

झूठ: साक्षी धोनी का आईडी प्रूफ लेने उनके होटल रूम में जाती हैं।

सच्चाई: ना तो कभी धोनी की चाबी गुमती है और ना ही कभी साक्षी धोनी के होटल रूम में जाती है। एक छोटी सी मुलाक़ात के बाद दोनों अलग हो जाते हैं।

Loved this? Spread it out then

Report

close

Select you are Reporting

expand_more
  • GreenPear
  • GreenPear
  • GreenStrawberry
  • GreenStrawberry
  • RedApple
  • RedApple
  • +2351 Active user
Post as @guest useror