Share this post

एक्स-सेक्स वर्कर की यह दर्दभरी कहानी सुनकर आपकी आँखें भी हो जाएंगी नम

"पोर्न इंडस्ट्री एक ऐसी इंडस्ट्री है जहाँ कोई महिला जितना ज़्यादा कामयाब होती जाती है, उसे उतना ही ज़्यादा अपनी पूरी ज़िन्दगी भुगतना पड़ता है।"

19 साल की कच्ची उम्र में उस लड़की ने पोर्न की दुनिया में कदम रखा और यहाँ पैसों की बारिश देख यहीं की हो गयी। फिर कुछ समय बाद उसे एहसास हुआ कि इस रंगीन दुनिया में पैसा तो बहुत है पर यह आपको असली दुनिया से बिलकुल अलग-थलग कर देती है। आपके पीछे कोई समाज नहीं होता जो आपका साथ दे।

इस बात का एहसास होने पर 6 साल बाद उसने इस रंगीन दुनिया को अलविदा कहने का निश्चय किया। 26 साल की उम्र में उसने यह सबकुछ छोड़कर एक आम इंसान की तरह समाज का हिस्सा बनने के लिए कदम बढ़ाए। वह चाहती थी कि लोग उसके बारे में राय बनाने के बजाय उसे अपनाए। पर समाज और दुनिया की प्रतिक्रिया देखकर वह हैरान हो गयी। उसके आत्मसम्मान को धक्का लगा।

वह लड़की है पूर्व पोर्न स्टार ब्री ओल्सोन। जिसने पोर्न इंडस्ट्री को छोड़कर मुख्य धारा में आने का निर्णय लिया और समाज ने उसे इसकी सजा दी। आइये सुनते हैं उनका दर्द उन्हीं की जुबानी। 

एक्स-सेक्स वर्कर की यह दर्दभरी कहानी सुनकर आपकी आँखें भी हो जाएंगी नम

एक्स-सेक्स वर्कर की यह दर्दभरी कहानी सुनकर आपकी आँखें भी हो जाएंगी नम

754 396
logo
  in People

वीडियो में सुनाई ओल्सोन ने अपनी कहानी

 वीडियो में सुनाई ओल्सोन ने अपनी कहानी

ओल्सोन, मातन उजिएल के अभियान 'रियल वीमेन, रियल वर्ल्ड'  सीरीज़ के वीडियो में नज़र आयी थी। इस वीडियो में ही उन्होंने अपनी कहानी बयां की है। इस अभियान का मकसद महिलाओं द्वारा सही जाने वाली तकलीफ़ों को दुनिया के सामने लाना है।

सही निर्णय का मिला ऐसा सिला 

सही निर्णय का मिला ऐसा सिला 

ओल्सोन का कहना है कि लोग मुझे इस तरह की नज़रो से देखते हैं कि जब भी मैं बाहर निकलूँ तो मुझे लगता है मेरे माथे पर 'स्लट' लिखा हुआ है।

शब्दों से करती है दुनिया वार

शब्दों से करती है दुनिया वार

लोग मुझे इतने तरह के नामों से बुलाते थे कि आप उन्हें किसी रिबन पर प्रिंट करवा कर उस रिबन को मेरे पूरे शरीर पर लपेट दें फिर भी रिबन ख़त्म ना हो पाएगा क्योंकि इतने नाम मुझे दिए गए हैं। जब-जब भी मैं बाहर जाती तो मुझे ऐसा ही महसूस होता है।

इतने तीखे शब्द

इतने तीखे शब्द

मुझे बाहर निकलकर खुद को इस तरह चोट पहुँचाने से आसान खुद को घर मैं कैद करके रखना लगता है। मैं कई-कई दिन और हफ़्तों तक घर से बाहर नहीं निकलती।

दुनिया नहीं कर पाती आपको स्वीकार

दुनिया नहीं कर पाती आपको स्वीकार

मैने सही बदलाव को चुना है पर दुनिया फिर भी मुझे मुख्य धारा में स्वीकार ही नहीं कर पा रही है। दुनिया आखिर क्यों आपके भूतकाल को भुलाकर आप जो अभी कर रहे हैं उसे प्रोत्साहित नहीं कर पाती?

लौट कर नहीं जाना चाहती

लौट कर नहीं जाना चाहती

मैं अब भी उस रंगीन दुनिया मे वापस जा सकती हूँ और हर हफ्ते $20,000 कमा सकती हूँ। पर मैं ऐसा नहीं कर रही क्योंकि इससे ज्यादा मैं यह चाहती हूँ कि मेरी अभद्र तस्वीरें इन्टरनेट पर न हो।

मैं जैसा चाहती हूँ वैसा नहीं हो सकता बर्ताव

मैं जैसा चाहती हूँ वैसा नहीं हो सकता बर्ताव

मेरी तमन्ना है कि लोग मेरे साथ एक शादीशुदा रजिस्टर्ड नर्स जिसके बच्चे हैं, उसकी तरह व्यवहार करे। पर मैं जानती हूँ ऐसा कभी नहीं हो सकता, इसलिए मैं ऐसा सोच भी नही सकती।

कोई नहीं बनना चाहता दोस्त

कोई नहीं बनना चाहता दोस्त

मैं जब घर से बाहर निकली तो मैनें नए दोस्त बनाने चाहे। पर फिर मैं बहुत निराश हो गई जब मुझे पता लगा कि वो मेरे दोस्त बनना ही नहीं चाहते।

मेरे लिए नहीं बनी दुनिया

मेरे लिए नहीं बनी दुनिया

मुझे लगता ही नहीं है कि बाहर यह जो दुनिया है, समाज है, वो मेरे लिए बना है। लोग मुझे एक्स सेक्स वर्कर की तरह नहीं देखते। वे मुझे इस तरह देखते हैं जैसे मैं समाज को या बच्चों को कोई नुकसान पंहुचा रही हूँ।

लोगों का नज़रिया है गलत

लोगों का नज़रिया है गलत

मैं नहीं कहती कि पोर्न गलत है। पर पोर्न फिल्में करने पर दुनिया का और समाज का आपके प्रति नज़रिया गलत हो जाता है। 

युवा लड़कियों के लिए है यह सन्देश

युवा लड़कियों के लिए है यह सन्देश

मैं युवा लड़कियों को यही कहना चाहूंगी कि पोर्न न करें। मैं समझती हूँ कि आप अपनी लैंगिकता को गले लगाना चाहते हैं। पर ऐसा करने से आपकी ज़िन्दगी बद से बदतर हो जाती है।

Loved this? Spread it out then

Report

close

Select you are Reporting

expand_more
  • GreenPear
  • GreenPear
  • GreenStrawberry
  • GreenStrawberry
  • RedApple
  • RedApple
  • +2351 Active user
Post as @guest useror