Share this post

इस समुदाय के लोग अपनी बहुओं से करवाते हैं यह घिनौना काम

भारत आधुनिक देश है और यहाँ पर महिलाओं ने बहुत बड़े-बड़े मुकाम हासिल किये हैं। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और लोकसभा अध्यक्ष जैसे बड़े-बड़े पदों पर महिलाऐं रह चुकी हैं। आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि आज के जमाने में एक ऐसा समुदाय है जहाँ की बेटियों का पालन-पोषण करके उन्हें बेचा जाता है।

ये समुदाय कहीं और नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली में है। इन बातों से ये साबित हो जाता है कि आज के समय में भी भारत देश में महिलाओं की स्थिति काफी दयनीय है। 

इस समुदाय के लोग अपनी बहुओं से करवाते हैं यह घिनौना काम

इस समुदाय के लोग अपनी बहुओं से करवाते हैं यह घिनौना काम

754 396
logo
  in Bizarre

कहां है ये समुदाय?

कहां है ये समुदाय?

दिल्ली के नजफगढ़ में एक ऐसा समुदाय है जहाँ पर ससुराल वाले खुद अपनी बहुओं से वेश्यावृति करवाते हैं। इस समुदाय का नाम "परना" है। 

बहुत समय से चल रहा है ये समुदाय

बहुत समय से चल रहा है ये समुदाय

खबरों के अनुसार प्रेमनगर बस्ती में रहने वाले "परना" समुदाय को काफी समय हो गया है और ये धंधा "परना" समुदाय वाले पीढ़ियों से करवा रहे हैं। इस समुदाय में लड़कियों की शादी 12-15 साल की उम्र में करवा दी जाती है। वेश्यावृत्ति के साथ ये लडकियां घर का काम भी करती हैं। अपने पति और बच्चों के लिए खाना बनाने के बाद वे रात को वेश्यावृति के लिए निकल जाती हैं। 

वेश्यावृति से इनकार करने पर 

वेश्यावृति से इनकार करने पर 

जो बहु वेश्यावृति करने से इनकार कर देती है उन पर अत्याचार किया जाता है। कभी कभी तो उनको जान से भी मार दिया जाता है। 

माँ-बाप खुद डालते हैं इस धंधे में 

माँ-बाप खुद डालते हैं इस धंधे में 

हैरान करने वाली बात है कि माता-पिता खुद अपनी बेटी को इस धंधे में डालते हैं। वो अपनी बेटी को पढ़ाई नही करवाते बल्कि छोटी उम्र में ही उनकी शादी कर देते हैं। लड़कियों के पैदा होते ही उनकी ट्रेनिंग के लिए उन्हें दलालों को सौंप दिया जाता है। 

बेच दिया जाता है लड़कियों को

बेच दिया जाता है लड़कियों को

इस समुदाय में लड़कियों की शादी नही बल्कि लड़कियों को बेचा जाता है। लड़के वाले अच्छा ऑफर देकर लड़कियों को खरीद लेते हैं। जो लड़के वाले सबसे ज्यादा पैसे देते हैं लड़की उनको बेच दी जाती है ये शादी नही सौदा है। ससुराल वाले खुद अपनी बहुओं के लिए ग्राहक ढूंढते हैं। 

कुछ महिलाओं ने किया विरोध 

कुछ महिलाओं ने किया विरोध 

सभी महिलायें इस रीति-रिवाज से खुश नहीं हैं। बहुत सारी महिलाओं ने इसके खिलाफ आवाज उठाई है और बहुत सारी महिलाओं को अपनी जान से हाथ भी धोना पड़ा है। कुछ महिलायें पढ़ना चाहती हैं। महिलाओं पर अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले संगठनों की आवाज इस समुदाय तक नहीं पहुंचती। 

कोई ध्यान नही दे रहा 

कोई ध्यान नही दे रहा 

देश के नेताओं के अनुसार उन्हें देश की चिंता है। पर महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहे हैं उन पर कोई ध्यान नही दे रहा। अगर सरकार इन मुद्दों पर ध्यान दे तो बहुत सारी महिलाओं की ज़िन्दगी बच जाएगी। देश को आजाद हुए 69 साल हो चुके हैं पर ऐसा लगता है कि महिलाओं के लिए अभी भी देश आज़ाद नही हुआ है। 

Loved this? Spread it out then

Report

close

Select you are Reporting

expand_more
  • GreenPear
  • GreenPear
  • GreenStrawberry
  • GreenStrawberry
  • RedApple
  • RedApple
  • +2351 Active user
Post as @guest useror